श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में लिरिक्स (Shree Ram Janki Baithe Hai Mere Seene Mein Lyrics)

Bhajan Title: Shree Ram Janki Baithe Hai Mere Seene Mein Lyrics by Lakhbir Sinh Ji Lakha.

Shree Ram Janki Baithe Hai Mere Seene Me Lyrics
Shree Ram Janki Lyrics

Shree Ram Janki Baithe Hai Mere Seene Mein Lyrics

श्री रामचन्द्र जी महाराज
के भरे दरबार में,
विभीषण ने ताना मारा,
की ऐ बजरंगबलि,
क्या तेरे मन में भी श्री राम है,
हनुमानजी ने श्री राम का नाम लिया
और सीना फाडा,
बोलै ले देख,
जय श्री राम॥

यह भी पढ़े: कभी राम बनके, कभी श्याम बनके


नहीं चलाओ बाण,
व्यंग के ऐह विभीषण,
ताना ना सेह पाऊं,
क्यों तोड़ी है यह माला,
तुझे ए लंकापति बतलाऊं,
मुझ में भी है, तुझ में भी है,
सब में है समझाऊं,
ऐ लंका पति विभीषण ले देख,
मैं तुझ को आज दिखाऊं॥


और वीर बजरंगी ने सीना चीर दिया,
और बोले,
जय जय श्री राम॥


श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में,
श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में,
देख लो मेरे दिल के नागिनें में,
देख लो मेरे दिल के नागिनें में,
श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में,
मेरे राम॥


मुझ को कीर्ति न वैभव न यश चाहिए,
राम के नाम का मुझ को रस चाहिए,
सुख मिले ऐसे अमृत को पीने में,
सुख मिले ऐसे अमृत को पीने में,

श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में,
श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में,
मेरे राम॥


राम रसिया हूँ मैं, राम सुमिरन करू,
सिया राम का सदा ही मै चिंतन करू,

दोहा

अनमोल कोई भी चीज,
मेरे काम की नहीं,
दिखती अगर उसमे छवि,
सिया राम की नहीं,

राम रसिया हूँ मैं, राम सुमिरन करू,
सिया राम का सदा ही मै चिंतन करू,
सच्चा आंनंद है ऐसे जीने में,
सच्चा आंनंद है ऐसे जीने में,

श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में,
श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में,
मेरे राम॥


फाड़ सीना हैं सब को,
यह दिखला दिया,
भक्ति में हैं मस्ती,
बेधड़क दिखला दिया,
कोई मस्ती ना सागर मीने में,
कोई मस्ती ना सागर मीने में,

श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में,
श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में,
मेरे राम॥


श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में,
श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में,

॥ itti Shree Ram Janki Baithe Hai Mere Seene Mein Lyrics Sampoorn॥

Also Read this: श्याम चूड़ी बेचने आया लिरिक्स

Share it to someone:
Scroll to Top