कोठे ऊपर कोठडी मैया का भवन सजा दूंगी भजन लिरिक्स

Bhajan Title: Kothe Upar Kothri Maiya Ka Bhawan Saja Dungi Bhajan Lyrics in Hindi.

Singer – Rekha Garg.
Music – Rinku Gujral.
Lyrics & Composer – Traditional.

Kothe Upar Kothri Maiya Ka Bhawan Saja Dungi Bhajan Lyrics

कोठे ऊपर कोठडी,
मैया का भवन सजा दूंगी ॥

जो मेरी मैया टिका माँगे,
बिंदी और लगा दूंगी।
जो मेरी मैया पैहर के निकलै,
जयकारा लगा दूंगी।
कोठे ऊपर कोठडी,
मैया का भवन सजा दूंगी॥

जो मेरी मैया कुंडल माँगे,
नथनी भी पैहरा दूंगी।
जो मेरी मैया पैहर के निकलै,
जयकारा लगा दूंगी।
कोठे ऊपर कोठडी,
मैया का भवन सजा दूंगी॥

जो मेरी मैया पैंडल माँगे,
माला भी पैहरा दूंगी।
जो मेरी मैया पैहर के निकलै,
जयकारा लगा दूंगी।
कोठे ऊपर कोठडी,
मैया का भवन सजा दूंगी॥

जो मेरी मैया चूड़ी माँगे,
मेहंदी भी लगवा दूंगी।
जो मेरी मैया पैहर के निकलै,
जयकारा लगा दूंगी।
कोठे ऊपर कोठडी,
मैया का भवन सजा दूंगी॥

जो मेरी मैया चोला माँगे,
चुनर भी ओढा दूंगी।
जो मेरी मैया पैहर के निकलै,
जयकारा लगा दूंगी।
कोठे ऊपर कोठडी,
मैया का भवन सजा दूंगी॥

जो मेरी मैया पायल माँगे,
बुछुये भी मंगा दूंगी।
जो मेरी मैया पैहर के निकलै,
जयकारा लगा दूंगी।
कोठे ऊपर कोठडी,
मैया का भवन सजा दूंगी॥

कोठे ऊपर कोठडी,
मैया का भवन सजा दूंगी ॥

॥ इति Kothe Upar Kothri Bhajan Lyrics in Hindi सम्पूर्ण॥

Also Read this: लाल लाल चुनरी सितारों वाली

Share it to someone:
Scroll to Top